झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

मेरीन ड्राइव सोनारी में पचास हजार आबादी वाले क्षेत्र में कचरे के ढेर में आग लगने से मिथेन गैस से कार्बनडाय आक्साइड में परिवर्तित हो जाने से यह गैस जानलेवा और जहरीला साबित हो रहा है

जमशेदपुर: जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति के द्वारा शहर के कचरों का ढेर कर मेरीन ड्राइव सोनारी आबादी वाले क्षेत्र में डम्पिंग किया जाता है । मानवाधिकार कार्यकर्ता जवाहरलाल शर्मा ने उपायुक्त पूर्वी सिंहभूम को ज्ञापन देकर ध्यान आकृष्ट कराया है कि मेरिन ड्राइव के क्षेत्रों में मिथेन गैस लगातार निकल रहा है इसके प्रकोप से सोनारी में कोरोनावायरस संकट बढ़ने की प्रबल संभावना व्यक्त की जा रही है श्री शर्मा ने बताया कि सोनारी में मेरीन ड्राइव में स्वर्ण विहार और दुमुहानी के बीच में ठीक सड़क के किनारे में प्लास्टिक जलने का गंध आता रहता है श्री शर्मा ने बताया कि जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति के द्वारा जो शहर का कचरा डंप किया जाता है वहां पहाड़नुमा सा बन गया है उस कचरे के ढेर में प्लास्टिक की मात्रा अधिक होती है जिससे मिथेन गैस बनता है और उसमें गरीब तबके के लोग जो कचरे के ढेर में कचरे चुनकर जीवन यापन करते हैं उन लोगों के द्वारा ज्वलनशील पदार्थ का सेवन करने से मिथेन गैस के प्रकोप से कचरों के ढेर में आग लग जाती है और उसके धुआं से आसपास के क्षेत्रों में कार्बनडाय आक्साइड गैस का फैलाव हो जाता है जिससे उन क्षेत्रों में निवास करने वाले लोगों का दम घुटने लगता है श्री शर्मा ने बताया कि यह ज़हरीला गैस स्वास्थ के लिए काफी हानिकारक है ।आग बुझाने के लिए जो टैंकर से पानी पटाने का काम किया जाता है वह सार्थक नहीं होता है बल्कि उससे और धुआं फैल जाता है श्री शर्मा ने बताया कि प्रदूषण से निजात पाने के लिए वहां मिट्टी डालकर पेड़ लगा देने से ही प्रदूषण से मुक्त पाया जा सकता है
श्री शर्मा ने बताया कि जानलेवा प्रदूषण मिथेन गैस से कार्बनडाइ आक्साइड बनने से पचास हजार की आबादी वाले क्षेत्र के निवासियों का जान खतरे में है ।श्री शर्मा ने कहा है कि जो लोग कचरों के ढेर में आग लगाने का काम करते हैं और जो लोग इसके लिए जिम्मेवार हैं उन पर कानूनी कार्रवाई की जाए ।ज्ञापन की प्रतिलिपि विशेष पदाधिकारी जमशेदपुर अक्षेस, प्रदूषण नियंत्रण परिषद आदित्यपुर को भी दिया गया है
झारखण्ड वाणी संवाददाता ने इस मुद्दे को लेकर जेएनएसी के इंजीनियर सौरभ कुमार से जानकारी प्राप्त की तो उन्होंने भी स्वीकार किया कि कचरों के ढेर में से मिथेन गैस पैदा होता है और उसके धुआं से आसपास का क्षेत्र का वातावरण दुषित होता है श्री कुमार ने कहा कि पुरे शहर का गंदगी वहां डंप किया जाता है । उन्होंने कहा कि अगर शहर का गंदगी नहीं उठाया गया तो शहर गंदगी से पट्ट जायेगा ।श्री कुमार ने कहा कि प्रदूषण से निजात पाने के लिए हमलोग भी काफी चिंतित हैं और तत्काल वहां पानी का छिड़काव किया जा रहा है वह कारगर साबित नहीं हो रहा है वहां पर मिट्टी डालकर बढ़ते प्रदूषण को रोकने का प्रयास किया जा रहा है ।श्री कुमार ने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन प्रदूषण और कचरों के ढेर से मुक्त पाने के लिए खैरबनी में कचरों का डंम्पिग यार्ड बनाने की प्रक्रिया जो चल रही है जो अभी विवादित है उसके तैयार होते ही शहरवासी प्रदूषण से निजात पा सकेंगे ।श्री कुमार ने कहा कि खैरवानी समस्या का निदान इस महीने के अंत तक समाधान होने की प्रबल संभावना है