झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

माइंस को लेकर दो पक्ष आमने-सामने

कुणाल सारंगी
  • नौधनबाद में बीसीसीएल में संचालित ओरिएंटल आउटसोर्सिंग को लेकर दो पक्ष आमने-सामने हो गए. मामला इतना बढ़ गया कि दोनों पक्षों में मारपीट की नौबत आ गई. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों पक्षों को

समझाकर मामला शांत कराया गया.

धनबाद: बाघमारा का बीसीसीएल एरिया 03 अंतर्गत ब्लॉक 04 परियोजना में संचालित ओरिएंटल आउटसोर्सिंग माइंस देखते ही देखते रणक्षेत्र में तब्दील हो गया. एक पक्ष जो कांग्रेस नेता रणविजय सिंह का समर्थक बताए जा रहे हैं, जिसकी अगुआई कांग्रेस प्रखंड उपाध्यक्ष विकाश सिंह कर रहे थे. उन लोगों ने पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत आउटसोर्सिंग माइंस को बंद कर नियोजन की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे. इसी बीच बीजेपी समर्थक बताए जा रहे कंपनी के कर्मी इस प्रदर्शन का विरोध करने लगे. इसी बीच दोनों पक्षों के बीच हाथापाई की नौबत आ गई.
घटना की जानकारी मिलने के बाद महुदा सर्किल इंस्पेक्टर रामप्यारे राम सहित सोनारडीह थाना पुलिस मौके पर पहुंची और तत्परता दिखाते हुए दोनों पक्षों के बीच हस्तक्षेप कर मामले को शांत कराया. कांग्रेस समर्थकों का मानना था कि जब हमारी लड़ाई कंपनी प्रबंधन से है तो कर्मी बीच में क्यों आ रहे हैं. वहीं दूसरा पक्ष कंपनी कर्मी जो बीजेपी विधायक ढुल्लू महतो के समर्थक बताए जा रहे हैं, उनका कहना था कि कंपनी यहां चार वर्षों से कार्यरत है, लेकिन आज यहां विवाद करने की क्या जरूरत है, जबकि कंपनी की ओर से स्थानीयता के आधार पर सैकड़ों लोगों को नियोजन दिया गया है.
प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद स्थानीय प्रबंधन के मांगों को लेकर वार्ता का आश्वाशन दिया गया, जिसके बाद मामला शांत हुआ.