झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

लॉकडाउन में ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन, घर बैठे ले सकते है फिल्मों का मजा

कुणाल सारंगी

लॉकडाउन के दौरान सिनेमा प्रेमियों की उदानसीनता को दूर करने के लिए फेडरेशन ऑफ फिल्म सोसाइटी ऑफ इंडिया ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन कर रहा है. इस फिल्म फेस्टिवल को फ्री में देखा जा सकता है, जिसमें कई भाषाओं की दस मिनट से लेकर 140 मिनटों वाली 27 फिल्मों को दिखाया जाएगा.
जमशेदपुरः कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश भर में सभी सिनेमाघर-मल्टीप्लेक्स बंद पड़े हैं, जिसकी वजह से सिनेमा प्रेमी निराश-उदास घरों में बैठे हैं. इसी के मद्देनजर फेडरेशन ऑफ फिल्म सोसाइटी ऑफ इंडिया (FFSI) सिनेमा प्रेमियों के लिए ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन कर रहा है. 20 जुलाई से शुरू हुआ यह फिल्म फेस्टिवल 27 जुलाई तक चलेगा. यह फिल्म फेस्टिवल शहर के सिनेमा प्रेमियों की संस्था सेल्यूलाइड चैप्टर के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है.
ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन इस सबंध फेडरेशन ऑफ फिल्म सोसाइटी ऑफ इंडिया (FFSI) के सचिव सह सेल्यूलाइड चैप्टर के महासचिव अमिताभ घोष ने बताया कि लाॅकडाउन में फिल्मों के प्रदर्शन पर रोक लगने से सिनेमा प्रेमी निराश घरों में बैठें हैं. लोगों की उदानसीनता को दूर करने के लिए ऑनलाइन फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया जा रहा है.
महासचिव ने कहा कि इस फिल्म फेस्टिवल को फ्री में देखा जा सकता है. इसके लिए न कोई शुल्क लगेगा और न ही कोई पासवर्ड की जरूरत है. केवल https://video.com या ऐप को डाउनलोड कर फिल्मों का मजा ले सकते हैं. इस फिल्म फेस्टिवल में अलग-अलग भाषाओं की दस मिनट से लेकर 140 मिनटों वाली 27 फिल्मों को दिखाया जाएगा. यहीं नहीं राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त फिल्म असम की बहुब्रीता को भी रखा गया है. उन्होंने कहा कि इस फिल्म फेस्टिवल में जमशेदपुर के करीब पचास हजार से ज्यादा लोगों के देखे जाने की उम्मीद है
अमिताभ घोष ने बताया कि इसके बाद डॉक्यूमेंट्री फिल्म फेस्टिवल का आयोजन किया जाएगा और यह खत्म होने के बाद ऑल इंडिया नेशनल महिला फिल्म फेस्टिवल का भी आयोजन किया जाएगा, इसके लिए भी बातचीत की जा रही है. साथ ही उन्होंने लोगों से फिल्म फेस्टिवल में हिस्सा लेने का आग्रह किया