झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कुख्यात प्रिंस के जुए के अड्डे पर छापामारी

कुणाल सारंगी

रांची में एसएसपी के निर्देश पर क्विक रिस्पांस टीम ने कुख्यात प्रिंस के जुए के अड्डे पर छारेमारी की. इस दौरान पुलिस ने अपराधी प्रिंस उर्फ लाली सहित पांच अपराधियों को धर-दबोचा. वहीं, मौके से पुलिस ने दो हथियार और नकद की बरामदगी की है. रांचीः राजधानी के धुर्वा डैम साइड में रहने वाला कुख्यात अपराधी प्रिंस उर्फ लाली जुए का खेल करवा रहा था. धुर्वा थाने से महज एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित प्रिंस उर्फ लाली के घर में जुए का अड्डा सजता था. मामले की सूचना मिलने के बाद एसएसपी ने क्विक रिस्पांस टीम (क्यूआरटी) भेजकर गुरुवार देर रात छापेमारी करवाई. छापेमारी के दौरान अपराधी प्रिंस उर्फ लाली सहित पांच अपराधी दबोचे गए. इनके पास से दो हथियार और नकद की बरामदगी भी हुई है जानकारी के अनुसार पूर्व में जिला बदर रहा अपराधी प्रिंस उर्फ लाली अपने ही घर में लाखों रुपये के जुए का खेल करवा रहा था. कई कुख्यात अपराधी जुआ के लिए इसके घर जुटते थे. इसकी सूचना एसएसपी को मिलने के बाद. हटिया एएसपी के नेतृत्व में टीम बनाकर छापेमारी का निर्देश दिया गया. प्रिंस उर्फ लाली की निशानदेही पर धुर्वा इलाके के अन्य जुए के अड्डे पर भी छापेमारी की गई. बताया जा रहा है कि धुर्वा पुलिस इस जुए के अड्डे की लगातार अनदेखी करती रही है. खबर है कि प्रिंस उर्फ लाली थाना के संपर्क में भी था. इस वजह से पुलिस की अनदेखी पर जुए का अड्डा चलवा रहा था. जेल से छूटने के बाद धुर्वा इलाके में जुए का अड्डा छूटने के बाद धुर्वा इलाके में जुए का अड्डा चलाने के अलावा नागड़ी इलाके में जमीन के धंधे से भी जुड़ा था.

पुलिस ने प्रिंस उर्फ लाली के खिलाफ जिला बदर की कार्रवाई की थी. लंबे समय तक वह जिला बदर था. हालांकि इस दौरान भी वह रांची में सक्रिय रह रहा था. प्रिंस उर्फ लाली धुर्वा इलाके के वार्ड नंबर 39 के पार्षद रत्नेश सिंह की हत्या के बाद चर्चा में आया था. इस मामले में पुलिस ने गिरफ्तार कर उसे जेल भेजा था. जेल से छूटने के बाद गिरोह बनाकर जुए के खेल के अलावा सूद में पैसे लगाने के कारोबार से जुड़ गया है.