झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोविड-19 अस्पताल में मरीजों को परोसा जा रहा है घटिया खाना, भाजपा ने समाज कल्याण विभाग पर उठाया सवाल

जामताड़ा के कोविड-19 अस्पताल में जिला प्रशासन के लापरवाही के कारण अस्पताल के मरीजों को अच्छे भोजन के लिए तरसना पड़ रहा है, जिससे नाराज होकर उन्हें हंगामा करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.

जामताड़ा: जिले में कोविड 19 अस्पताल प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आयी है. मामला जामताड़ा का है, जहां कोरोना मरीजों को घटिया स्तर का खाना परोसा जा रहा है, जिसके कारण मरीजों ने जमकर हंगामा किया. मरीजों का कहना है कि न ही समय पर भोजन मिलता है और न ही किसी तरीके की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है, जिसके कारण मरीजों में आक्रोश है.
मरीजों ने बताया कि पूर्व में खाना की व्यवस्था को बिना शिकायत का अकारण उसे बदल दिया गया और किसी तीसरे को खाने के आपूर्ति की व्यवस्था जिला के नव पदस्थापित उपायुक्त ने समाज कल्याण विभाग को दे दिया गया, जिसके कारण यह समस्या उत्पन्न हो गई और मरीजों को अच्छा भोजन नहीं मिल पा रहा है.
कोविड-19 अस्पताल में मरीजों को दिए जाने वाले खाना वहां के स्टाफ और चिकित्सक को भी खाना है, लेकिन यह खाना वहां के स्टाफ और चिकित्सक भी नहीं खाते हैं. चिकित्सकों का कहना है कि यह खाना खाने लायक नहीं है. यहां काम करने वाले एक स्टाफ का कहना है कि खाना इतना घटिया है कि वह गले से उतरता ही नहीं है. ऐसे में जब स्टाफ वहां के खाना नहीं खा सकते, तो मरीज कैसे खाएं. मामले के बारे में जानकारी देते हुए सिविल सर्जन ने कहा कि वे अभी रोस्टर बना रहे हैं और इस संबंध में कुछ नहीं बोलना चाहते. मरीजों को दिए जाने वाले घटिया भोजन को लेकर पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेश राय ने नाराजगी जताते हुए कहा कि जिला प्रशासन और समाज कल्याण के देखरेख में घटिया भोजन कोविड-19 अस्पताल के मरीजों को परोसा जा रहा है. समय पर खाना भी नहीं दिया जा रहा है. साफ-सफाई की व्यवस्था नहीं ठीक से की जा रही है. पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष सुरेश राय ने प्रशासन से शीघ्र ही इस पर सुधार करने की मांग की है. उग्र आंदोलन करने की भी चेतावनी दी है.