झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना से एक व्यक्ति की मौत, संक्रमितों की कुल संख्या हुई 2400

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर जिले में गुरुवार को कोरोना संक्रमण से एक व्यक्ति के मौत की पुष्टि हुई है. इसी के साथ जिले में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों का आकड़ा 61 पहुंच गया है. वहीं जिले में अब कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 2400 हो गई है.

जमशेदपुर: जिले में कोरोना का कहर बदस्तूर जारी है. गुरुवार को एक व्यक्ति कोरोना संक्रमण से मौत होने की पुष्टि हुई है. इसी के साथ जिले में कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या 61 हो गई है.
गुरुवार को परसुडीह के 58 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत कोरोना के संक्रमण से हुई है. इन्हें सोमवार की रात सांस लेने में तकलीफ की समस्या होने पर टाटा मुख्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इन्हें तेज बुखार के साथ गले में दर्द होने की शिकायत भी थी. जिसके बाद गुरूवार की सुबह इलाज के दौरान कोरोना के संक्रमण से मौत हो गई.
जिले में प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों की संख्या सौ से ज्यादा देखने को मिल रहे हैं. इधर शहर की चौकसी में लगे कोरोना वॉरियर्स पुलिस कर्मी के साथ चिकित्सक भी कोरोना संक्रमण का शिकार हो रहे हैं. झारखंड में जमशेदपुर सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण वाला शहर बनता जा रहा है. जमशेदपुर में गुरूवार को कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 2400 हो चुकी है, वहीं जिसमें से 1244 कोरोना के मामले पूर्वी सिंहभूम में एक्टिव हैं. गुरूवार को कोरोना से मौत का आंकड़ा 61 तक जा पंहुचा है.
वहीं दूसरी ओर जिले में रैपिड और ट्रूनेट से होने वाली कोरोना संक्रमण की जांच लगभग ठप हो गई है. पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना जांच के लिए रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट राजधानी रांची से तीन हजार किट पूर्वी सिंहभूम जिले को उपलब्ध कराई गई थी, जो अब खत्म होने के कगार पर है. इसको देखते हुए रांची से फिर से स्वास्थ्य विभाग ने किट मांगी है. दरअसल, जमशेदपुर में बढ़ते कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से तकरीबन 5 हजार से ज्यादा किट की मांग की गई है. रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट से कोरोना संक्रमण की जांच रिपोर्ट मात्र 15 से 20 मिनट में मिल जाती है. वहीं, ट्रूनेट मशीन से जांच करने वाले अनुबंध कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं.