झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना संक्रमण से उमाकांत मिश्र का हुआ निधन

कुणाल सारंगी

सरायकेला में मंगलवार को बार एसोसिएशन के अध्यक्ष उमाकांत मिश्र का निधन कोरोना संक्रमण की वजह से हो गया. इस पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने शोक व्यक्त किया है. वहीं, बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व सांसद लक्ष्मण गिलुआ, जिलाध्यक्ष विजय महतो आदि लोगों ने गहरा शोक व्यक्त किया.

सरायकेला: कोरोना ने सरायकेला-खरसावां जिले में एक और व्‍यक्ति की जान ले ली. सरायकेला-खरसावां जिला बार एसोसिएशन के अध्‍यक्ष उमाकांत मिश्र की इलाज के दौरान टीएमएच में मंगलवार सुबह मौत हो गई. उनके निधन पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व सांसद लक्ष्मण गिलुआ, जिलाध्यक्ष विजय महतो, पूर्व विधायक मंगल सोय, पूर्व जिलाध्यक्ष उदय सिंहदेव आदि ने गहरा शोक व्यक्त किया है.
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि सरायकेला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ अधिवक्ता उमाकांत मिश्रा के आकस्मिक निधन की खबर सुनकर मर्माहत हूं. वह ईमानदार छवि, मृदुभाषी वरिष्ठ अधिवक्ता थे. वहीं उनके परिवार को इस दुःख की घड़ी में उसे सहन करने की शक्ति प्रदान करें.
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने स्वर्गीय मिश्रा के निधन पर फेसबुक व ट्वीटर के जरीए भी अपनी वेदना व्यक्त की है. भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सांसद लक्ष्मण गिलुवा ने उमाकांत मिश्रा का निधन समाज के लिए अपूरणीय क्षति बताया है. उन्होंने कहा कि मिश्रा का अपने जीवन काल में गरीब और समाज के हित में कार्य किए है. उनकी कमी हमेशा समाज को खलती रहेगी. उन्होंने दुख के समय में परिवार को सहनशक्ति ईश्वर से प्रदान करने की प्रार्थना करते हुए भावपूर्ण श्रद्धांजलि की.
बता दें कि कोरोना ने सरायकेला-खरसावां जिले में एक और व्‍यक्ति की जान ले ली. सरायकेला-खरसावां जिला बार एसोसिएशन के अध्‍यक्ष की इलाज के दौरान टीएमएच में मंगलवार सुबह मौत हो गई. वे 78 साल के थे. उमाकांत मिश्र कोरोना संक्रमण से प्रभावित होकर टाटा मेन हॉस्पिटल में पिछले कई दिनों से भर्ती थे, हालांकि रविवार के आए जांच में उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी, लेकिन मंगलवार सुबह उनका निधन हो गया.