झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना पॉजिटिव अभियुक्त के कोर्ट परिसर पहुंचने पर अधिवक्ताओं में हड़कंप

कुणाल सारंगी

पाकुड़ में व्यवहार न्यायालय में आत्मसमर्पण के लिए पहुंचे अभियुक्त के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अधिवक्ताओं में हड़कंप मच गया. इसके तहत बार एसोसिएशन को बंद कर दिया गया है. फिलहाल व्यक्ति को कोविड-19 मैनेजमेंट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया है. साथ ही व्यक्ति की पैरवी करने वाले अधिवक्ता और उनके सहकर्मी को होम क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है.

पाकुड़: न्यायालय में आत्मसमर्पण करने के लिए पहुंचे एक अभियुक्त के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर यहां अधिवक्ताओं में हड़कंप मच गया है. हालांकि आत्मसमर्पण करने पहुंचे अभियुक्त की जांच के बाद जैसे ही उसके कोरोना संक्रमित पाए जाने की जानकारी मिली उसे कोविड-19 मैनेजमेंट हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया और इसकी पैरवी कर रहे अधिवक्ता सहित उनके सहकर्मी को होम क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है.
व्यवहार न्यायालय में आत्मसमर्पण के लिए पहुंचे अभियुक्त के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अब यह व्यवस्था सुनिश्चित की गयी है कि आत्मसमर्पण और जमानत के लिए कोई भी मुवक्किल तभी न्यायालय परिवहन परिसर में प्रवेश कर सकेगा जिसने अपनी कोरोना जांच करायी हो और उसकी रिपोर्ट नेगेटिव हो. अभियुक्त के आत्मसमर्पण के दौरान कोरोना संक्रमित पाए जाने पर जिला बार एसोसिएशन ने एहतियाती कदम उठाते हुए अपने एसोसिएशन के भवन को बंद कर दिया गया है. बार एसोसिएशन के सचिव दीपक कुमार ओझा ने बताया कि बार एसोसिएशन भवन में जहां अधिवक्ता बैठते
हैं और बाहर से मुवक्किल यहां आते हैं उसे बंद कर दिया गया है.
सचिव ने बताया कि प्रशासन से बार एसोसिएशन भवन को सेनेटाइज करने की अपील की गयी है. उन्होंने बताया कि बार एसोसिएशन में जिले से ही नहीं बल्कि दूसरे जिले और राज्य से लोग आते हैं और ऐसी स्थिति में तीन दिन के अंतराल बार एसोसिएशन भवन का सेनेटाइजेशन होना चाहिए.