झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना के दौर में भी सुरक्षा के साथ जिले में चल रहा विश्व स्तनपान पखवाड़ा

कुणाल सारंगी

स्तनपान के लिए महिलाओं को कर रहे हैं जागरूक,दे रहे हैं आवश्यक जानकारी

लखीसराय| अजय कुमार:कोरोना महामारी के दौर भी सुरक्षा के साथ जिला स्तर से लेकर प्रखंडो स्तर पर हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी विश्व स्तनपान सप्ताह मनाया जा रहा है,जो 01 अगस्त से शुरू हो चुका है एवं इसका समापन 07 अगस्त को होगा। यह अभियान बच्चों के सर्वांगीण बिकास एवं नवजात शिशु मृत्यु दर में कमी लाने एवं कुपोषण से बचाने में स्तनपान के महत्व को जन-जन तक पहुँचाने के लिए पुरे जोरशोर के साथ बड़े पैमाने पर चलाया जा रहा है।इसके लिए एएनएम,आशा एवं ऑगनबाड़ी सेविका समेत अन्य कर्मी इसे सफल बनाने को लेकर लोगों जागरूक कर रहें हैं, ताकि शत-प्रतिशत लोगों को इसकी जानकारी मिल सके एवं लोग शामिल होकर लाभ ले सकें।

जन्म के बाद छः माह तक शिशु को कराऐ स्तनपान:

जिला अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ देवेन्द्र चौधरी ने बताया कि जन्म के बाद छः माह तक नवजात शिशु को स्तनपान कराने से शिशु का स्वस्थ शरीर का निर्माण होता है एवं डायरिया व निमोनिया से होने वाले मृत्यु की संभावना 11 से 15 गुणा तक कम हो जाती है।साथ ही स्तनपान कराने वाली माताओं में स्तन एवं ओवरी कैंसर होने का खतरा कम रहता है।जिससे स्वस्थ माँ मजबूत बच्चा का निर्माण होता है।उन्होंने लोगों से बच्चे जन्म के बाद छः माह तक सिर्फ स्तनपान कराने का अपील किया है।

वेवीनार के माध्यम से पखवाड़े का सफल आयोजन को लेकर दिया गया प्रशिक्षण:

जिला एवं प्रखंड स्तरीय पखवाड़ा वेवीनार के माध्यम से आयोजित हो रहा है।इसकी सफलता को लेकर पूर्व में ही इस पखवाड़े में शामिल होने वाले आइसीडीएस,स्वास्थ समेत अन्य विभागों के कर्मियों को एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण पूर्व में ही दिया जा चुका है।ताकि कार्यक्रम का सफल एवं सुदृढ़ रूप से संचालन हो सके।

स्वास्थ कर्मी माताओं को कर रहे हैं जागरूक

स्तनपान अभियान को सफल बनाने के लिए एएनएम,आशा,ऑगनबाड़ी सेविका समेत अन्य कर्मी गाँव-गाँव व घर-घर जाकर माताओं को स्तनपान के लिए जागरूक कर रहें हैं एवं स्तनपान के महत्व की भी जानकारी दे रहे हैं।साथ ही इस कोरोना काल में सावधानी के साथ स्तनपान कराने की जानकारी भी दे रहे हैं।जिसमें स्तनपान के समय मास्क का उपयोग करने,हाथों को साबुन से अच्छी तरह 30 सेकेंड तक धोने या सेनेटाइजर से सेनेटाइज करने,साफ सूती कपड़े का उपयोग करने आदि की जानकारी दे रहे हैं।

निश्चित होकर कराऐ स्तनपान,इससे नहीं फैलता है कोरोना

स्तनपान के लिए लोगों को जागरूक कर रहें स्वास्थ कर्मी लोगों को यह भी संदेश दे रहे हैं कि निश्चित होकर स्तनपान कराऐ। इससे कोरोना नहीं फैलता है।सिर्फ अगर कोई संक्रमित माँ हैं तो वह स्तनपान के समय मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें,अपने हाथों को अच्छी तरह से करीब 30 सेकेंड तक साबुन से अच्छी तरह साफ करें या सेनेटाइजर से सेनेटाइज करें,साफ सुती कपड़े का उपयोग करें।हालाँकि इस दौरान इस बात का भी ध्यान रखना है कि क्या माँ का शरीर स्तनपान के लिए सक्षम है या नहीं।क्योंकि बीमार माँ का शरीर कमजोर हो जाने पर वह स्तनपान कराने में खुद को सक्षम महसूस नहीं करती है।इसलिए ऐसी स्थिति जब शरीर इसके सक्षम हो तभी स्तनपान कराऐ।