झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोरोना का खौफ: सरकारी कार्यालय हुए आम लोगों के लिए बंद, गेट पर लगाए गए ड्रॉप बॉक्सिंग

कुणाल सारंगी

सरायकेला जिले में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. जिले में अब कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए विभिन्न सरकारी कार्यालय समेत पुलिस थानों के मुख्य गेट को बंद कर दिया गया है.
सरायकेला: जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए विभिन्न सरकारी कार्यालय समेत पुलिस थानों के मुख्य गेट को बंद कर दिया गया है. वहीं, कार्यालय और थाना आने वाले फरियादियों के लिए अब मुख्य गेट के पास ड्रॉप बॉक्स लगाया गया है, जहां लोग अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं. प्रखंड कार्यालय समेत जिले के कई महत्वपूर्ण कार्यालय में कोरोना के खतरे को देखते हुए आम लोगों के प्रवेश पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई है. तकरीबन सभी कार्यालय के बाहर ड्रॉप बॉक्स रखे गए हैं, जहां लोग अपने सुझाव शिकायत समेत अन्य जरूरी कागजात जमा कर रहे हैं.
इधर,नई व्यवस्था को लेकर अधिकारियों ने बताया है कि संक्रमण से सुरक्षा के मद्देनजर सरकारी कर्मचारियों की हिफाजत के लिए यह कदम उठाना जरूरी है. कोरोना के बढ़ते प्रसार के बाद सुरक्षा को लेकर बनाए गए कंटेनमेंट और बफर जोन में लोगों को होने वाली असुविधा को दूर करने का प्रयास जिला प्रशासन द्वारा किया गया है, इसके मद्देनजर चौबीसों घंटे तीन शिफ्ट में कंट्रोल रूम कार्यरत हैं, जहां लोग अपनी असुविधा और सहायता को लेकर संपर्क कर सकते हैं. फिलहाल कोरोना संक्रमण को देखते हुए यह कंट्रोल रूम 4 अगस्त तक कार्यरत रहेगा.
बता दें कि सरायकेला जिले में कुल कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 134 है. इसमें से 75 कोरोना वायरस के मरीज स्वस्थ हो चुके हैं और उनको घर भेज दिया गया है. वहीं, जिले में अब तक दो मरीजों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है. वहीं, सरायकेला में कुल एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 59 है. वहीं, झारखंड की बात करें तो झारखंड में बुधवार को कोरोना के 514 नए मामले आए हैं. राज्य में सक्रिय केस की संख्या बढ़कर 3,648 हो गई है. कोरोना के कुल मामले 6,761 हो गए हैं. इनमें कुल 3,048 लोग स्‍वस्‍थ भी हो चुके हैं. वहीं राज्य में कोरोना से अब तक 65 मौत हो चुकी है.