झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कोलेबिरा से बांसजोर तक नेशनल हाईवे 143 खस्ताहाल, महिलाओं ने धान रोपकर खींचा सरकार का ध्यान

कुणाल सारंगी

सिमडेगा में एनएच 143 की जर्जर हालत खस्ता हो चुकी है. इस पर जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे दिखाई दे रहे हैं. बारिश के दिनों में इन गड्ढों में पानी भर जाता है, जिसके कारण आए दिन लोग सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं.

सिमडेगा: जिले में कोलेबिरा से बांसजोर तक एनएच 143 खस्ताहाल हो चुकी है. राष्ट्रीय राजमार्ग 143 पर जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे बन गए हैं. बारिश के दिनों में इन गड्ढों में पानी भर जाता है. वाहन चालकों को इसका अंदाजा नहीं लगने से वे आए दिन दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं. बीते कई दिनों से राष्ट्रीय राजमार्ग 143 का मुद्दा सिमडेगा में काफी सुर्खियों में रहा. इसमें राजनीति तो बहुत हुई, लेकिन इसकी मरम्मत अब तक नहीं हो सकी है. इससे नाराज स्थानीय लोगों ने महावीर चौक के पास धान रोपकर प्रदर्शन किया
मजदूर नेता राजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में सोमवार को महिलाओं ने राष्ट्रीय राजमार्ग में शहर के समीप धान रोपनी की. इन महिलाओं ने 9 बजे महावीर चौक के पास राष्ट्रीय राजमार्ग के गड्ढे में धान रोपकर जिला प्रशासन और शासन का ध्यान आकृष्ट कराया.
विदित हो कि सड़क की ऐसी दुर्दशा होने के कारण जिले में दुर्घटना में काफी इजाफा हुआ है. लोग आए दिन दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं. वहीं, कई जगह पर जाम की स्थिति भी उत्पन्न हो रही है.