झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

केंद्र सरकार झारखंड के साथ कर रही सौतेला व्यवहार

कुणाल सारंगी

कृषि मंत्री बादल पत्रलेख गिरिडीह पहुंचे, जहां उन्होंने कांग्रेस नेता स्व. नरेंद्र सिन्हा के परिजनों से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने न्यू सर्किट हाउस में पहुंचकर पत्रकारों से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर झारखंड के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया.

गिरिडीह: कांग्रेस नेता नरेंद्र सिन्हा की असामयिक मृत्यु पर उनके परिजनों से मिलने गिरिडीह पहुंचे झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने न्यू सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत की. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कोरोना जैसे विपत्ति में भी केंद्र सरकार राज्य सरकार के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है, किट उपलब्ध कराने या विशेष पैकेज देने के मामले में राज्य के प्रति केंद्र का रवैया ठीक नहीं है, केंद्र सरकार ने विशेष पैकेज पर अभी तक सकारात्मक जवाब नहीं दिया गया है किसी भी लेवल पर केंद्र से बात करते हैं तो इंतजार करने को कहा जाता है.मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि झारखंड एक कमजोर राज्य है, यह कई मामले में प्रोडक्शन स्टेट है, लेकिन जीएसटी का संग्रह केंद्र स्तर पर होता है, करों का संग्रह संघीय ढांचे के मुताबिक है, हमसे ज्यादा राजस्व जुटाने के बाद भी उपेक्षा की जाती है. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में हमें केंद्र से काफी अपेक्षा है, लेकिन केंद्र सरकार इस पर खरी नहीं उतर रही है. मंत्री ने कहा कि झारखंड में कोरोना कंट्रोल और रिकवरी रेट संतोषजनक है. वहीं कांग्रेस नेता स्व. नरेंद्र सिन्हा को बीमार होने पर अस्पतालों में एडमिट नहीं लिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार इसको गंभीरता से ले रही है, हम लिखित शिकायत ले रहे हैं.
बादल पत्रलेख ने कहा कि खेती-बाड़ी में जिन किसानों के पास पूंजी नहीं है, सरकार उनके लिए योजना भी लेकर आ रही है. पत्रकारों से बातचीत के दौरान उनके साथ जिलाध्यक्ष नरेश वर्मा, सतीश केडिया, धनंजय सिंह, प्रो मुकेश साहा, उपेंद्र सिंह, अशोक विश्वकर्मा, बलराम यादव, ऋषिकेश मिश्रा, मंजू कुमारी समेत कई कांग्रेसी मौजूद रहे