झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

केबुल कंपनी के दिवालियापन पर रोक लगाने वाले याचिकाकर्ता भगवती सिंह का हुआ अभिनंदन, केबुल कर्मचारियों ने संघर्ष के लिए जताया आभार

केबुल कंपनी के दिवालियापन पर रोक लगाने वाले याचिकाकर्ता भगवती सिंह का हुआ अभिनंदन, केबुल कर्मचारियों ने संघर्ष के लिए जताया आभार

 

जमशेदपुर। वर्षों से बंद पड़ी केबुल कंपनी के दिवालियापन पर रोक लगाने संबंधी निर्णय पारित होने पर याचिकाकर्ता भगवती सिंह का केबुल कर्मचारियों ने अभिनंदन किया। शनिवार को केबुल कंपनी के पूर्व कर्मचारियों ने भगवती सिंह को पुष्पमाला पहनाकर और मिठाई खिलाकर उनके संघर्ष के लिए आभार जताया। इस अवसर पर कर्मचारियों ने उम्मीद जताई कि एनसीएलएटी दिल्ली कोर्ट द्वारा केबुल कंपनी के पुनरुद्धार संबंधी आदेश दिए जाने पर केबुलवासियों के दिन फिर से बहुरेंगे। इस अवसर पर दिवालियापन पर रोक लगाने के याचिकाकर्ता भगवती सिंह ने कहा कि यह केवल कर्मचारियों के संघर्ष की जीत है। वर्षों से केबुल कर्मचारियों के त्याग और तपस्या की बदौलत केबल की बदौलत केबल कंपनी के पुनः खुलने की उम्मीद जगी है। उन्होंने आशा जताई कि कंपनी के पुनरुद्धार संबंधी आदेश दिए जाने पर जल्द ही कंपनी फिर से संचालित होगी जिससे यहां के लोगों के जीवन स्तर में व्यापक बदलाव आएगा। इस दौरान शिवशंकर सिंह, गुप्तेश्वर सिंह, प्रेमसागर सिंह यू के शर्मा, कल्याण शाही, टी एन मिश्रा, भुवनेश्वर पांडेय, राजेश सिंह, राणा प्रताप और अन्य कई लोग उपस्थित थे।