झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

कांग्रेस ने बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री  रघुवर दास  से पूछा आपके 2014 से 2019 के कार्यकाल में खाद्य आपूर्ति विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को रोकने के लिये क्या प्रयास एवं कारवाई किये गए थे ? अगर नहीं तो जिम्मेदार कौन?

कांग्रेस ने बीजेपी के पूर्व मुख्यमंत्री  रघुवर दास  से पूछा आपके 2014 से 2019 के कार्यकाल में खाद्य आपूर्ति विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को रोकने के लिये क्या प्रयास एवं कारवाई किये गए थे ? अगर नहीं तो जिम्मेदार कौन?

 

जमशेदपुर :-झारखंड प्रदेश कांग्रेस  कोल्हान प्रमंडल के प्रवक्ता जम्मी भास्कर ने कहा कि पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त  सूरज कुमार  के नेतृत्व में जिला प्रशासन द्वारा खाद्य आपूर्ति के गोदामों में गड़बड़ी की शिकायत पर जनहित में जाँच कर भारी अनियमितताओं को उजागर करना अति सराहनीय है। कांग्रेस  प्रवक्ता ने कहा कि झारखंड में कांग्रेस ,जेएमएम एवं राजद के महागठबंधन की सरकार बनने के बाद  मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन  एवं कैबिनेट स्वास्थ्य मंत्री   बन्ना गुप्ता , प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं वित्त सह खाद्य आपूर्ति,जन वितरण एवं उपभोक्ता मामलों के कैबिनेट मंत्री  रामेश्वर उराँव  के नेतृत्व में झारखंड सरकार द्वारा राज्य में भ्रष्टाचार के खिलाफ कड़ी कारवाई की जा रही है।
विगत वर्ष साकची एवं गोलमुरी में खाद्यान्न कालाबाजारी की शिकायत पर जाँच के बाद दो भ्रष्ट  व्यापारियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था, जिसका केस अभी भी चल रहा है, उन व्यापारियों को बीजेपी सरकार के 2014 -2019 कार्यकाल में पांच वर्षों के अंदर ही खाद्य आपूर्ति में कार्य आबंटित हुई थी या नहीं ? आज 2021 में फिर जन शिकायत पर गोदामों की स्टॉक में गड़बड़ी की जाँच के बाद स्टॉक एवं रिकॉर्ड में कई अनियमितताएं पाई गई है।  हेमंत सोरेन  के नेतृत्व में वर्तमान सरकार बने हुए डेढ़ वर्ष ही हुए है, जबकि खाद्यान्न विभाग में गड़बड़ी एवं छूट कई वर्षों से चल रही थी जिसे जनहित मेंं कांग्रेस  एवं जेएमएम की सरकार ने जाँच पड़ताल कर उजागर किया है,कड़ी कारवाई से स्पष्ट है कि वर्तमान सरकार में भ्रष्टाचार को किसी भी कीमत पर बर्दास्त नही किया जायेगा,आने वाले समय में सारे भ्रष्ट व्यापारी जेलों में होंगे। इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर  पूर्व मुख्यमंत्री   रघुवर दास  को यह बताना चाहिए कि उनके नेतृत्व में 2014-2015 पिछले पांच  वर्षों  के कार्यकाल में खाद्य आपूर्ति विभाग में व्याप्त खामियों एवं अनियमितताओं को दूर करने के लिये पूर्व खाद्य आपूर्ति मंत्री   सरयू राय  के द्वारा क्या प्रयास किया गया था बीजेपी सरकार के 2014 से 2019 के बीच के पांच वर्षो में पूर्व मुख्यमंत्री  रघुवर दास  के कार्यकाल में इसी तरह की गोदामों में स्टॉक की हेराफेरी के समय फंसने के डर से पांच सौ बोरा पंजाब के गेहूँ से भरे बोरो को स्वर्णरेखा नदी के किनारे मेरिन ड्राइव में फेका गया था,उस समय बीजेपी सरकार में पूर्व खाद्य आपूर्ति मंत्री  सरयू राय  मेरिन ड्राइव में फेके गेहूँ के बोरे स्वयं देखने गए थे, बिस्टुपुर थाना में केस हुआ था समाचार पत्रों  में भी छपा था,जमशेदपुर ही नहीं पूरे देश में अनोखा मामला था, जिसमें कई भ्रष्ट व्यापारियों के फँसने की संभावना थी,उस समय चर्चा थी कि मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया गया था जिसका केस अभी तक खुला है या नही कोई नही जानता
प्रवक्ता जम्मी भास्कर ने कहा कि यह आश्चर्यजनक है कि पिछले बीजेपी सरकार में बर्मामाइंस के एफ सी आई में परिवहन का ठेका झारखंड के योग्य स्थानीय ठेकेदारों को नहीं देकर दूसरे राज्य के ठेकेदारो को किस आधार पर आबंटित किया गया था।  पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास  के नेतृत्व में  खाद्य आपूर्ति मंत्री  सरयू राय  के कार्यकाल में बीजेपी नेताओं के  द्वारा भव्य कार्यक्रम आयोजित कर गरीबों के लिये राशन कार्ड बनाने का फॉर्म भरा गया था , लेकिन आज तक गरीब जनता राशन कार्ड प्राप्त होने का इंतजार करते करते निराश हो गई थी, जिसे कांग्रेस एवं जेएमएम की सरकार बनने के बाद जनता में एक नया उत्साह एवं आशा जगी है जिसे वर्तमान सरकार समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँच कर पूरा कर रही है।