झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जमशेदपुर में 1 से 30 सितंबर तक पोषण माह का संचालन, कुपोषण मुक्त जिला बनाना लक्ष्य

जमशेदपुर में 1 से 30 सितंबर तक पोषण माह का आयोजन किया जा रहा है. इस दौरान जिला, प्रखंड एवं आंगनबाड़ी स्तर पर उचित पोषण के प्रति जागरूकता को लेकर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं.

जमशेदपुर: जिला समाज कल्याण विभाग 1 से 30 सितंबर तक पोषण माह के तहत जिला, प्रखंड और आंगनबाड़ी स्तर पर उचित पोषण के प्रति जागरूकता को लेकर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करेगा. कार्यक्रम के तहत सभी आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों, किशोरियों और महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने तथा उचित पोषाहार लेने के प्रति जागरूक किया जा रहा है. उपायुक्त सूरज कुमार ने जनसाधारण से उचित पोषाहार लेने की अपील करते हुए कहा है कि जिले का प्रत्येक नागरिक कुपोषण से मुक्त रहे जिला प्रशासन का यही प्रयास है. पोषण माह के तहत किशोर, लड़कियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को जागरूक किया जा रहा है. इसके अलावा लोगों के बीच स्वच्छता का भी संदेश दिया जा रहा है. इस दौरान बच्चों की ऊंचाई, किशोर लड़कियों और गर्भवती माताओं का वजन की भी जांच की जा रही है.
जिला समाज कल्याण पदाधिकारी श्रीमति सत्या ठाकुर की उपस्थित में गोलमुरी-सह-जुगसलाई परियोजना के सिमुलडांगा आंगनबाड़ी केंद्र में लाभुकों एवं ग्रामीणों के बीच विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के दौरान जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने ऊपरी आहार की शुरुआत के तहत 7 माह के बच्चे को अन्नप्राशन और गर्भवती महिला की गोद भराई कर पोषण के महत्व का संदेश सभी के बीच पहुंचाया गया. उन्होंने लाभुकों और ग्रामीणों को पोषण के पंच सूत्र पर विस्तार से समझाते हुए 1000 दिवस की महत्ता और न्यूट्री गार्डेन की उपयोगिता को बताया. कार्यक्रम के दौरान देवघर पंचायत की मुखिया ज्योत्सना सिंह, महिला पर्यवेक्षिका मोनिका बोस, रेखा कुमारी, आंगनबाड़ी
कार्यकर्ता, लाभुक वर्ग एवं काफी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे.