झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

झारखंड-पश्चिम बंगाल बॉर्डर पर सघन जांच अभियान

कुणाल सारंगी

झारखंड में कोरोना लगातार पैर पसार रहा है. इसे लेकर राज्य के सभी बॉर्डरों पर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है, जिससे कोई भी बाहरी बिना पास के झारखंड में प्रवेश में न कर सके. झारखंड और पश्चिम

बंगाल के बॉर्डर पर तुलिन-मूरी के पास भी इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है जो लगातार बाहर से आने जाने वाली गाड़ियों की चेकिंग कर रहे हैं और बाहर से प्रदेश में प्रवेश करने वालों की हाथ पर होम क्वॉरेंटाइन की मुहर लगा रहे हैं.

रांची: कोरोना के बढ़ते प्रकोप पर रोक लगाने के लिए पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है. पुलिस जगह-जगह चेकिंग अभियान चला रही है. इसे लेकर झारखंड और बंगाल के बॉर्डर तुलिन-मूरी के पास भी पुलिस बलों के तैनाती की गई है. पश्चिम बंगाल से झारखंड आने वालों की सख्ती से जांच की जा रही है, जिन यात्रियों के पास आने-जाने का पास उपलब्ध है उसका पूरा ब्योरा रजिस्टर में अंकित किया जा रहा है, उसके बाद ही झारखंड में प्रवेश करने दिया जा रहा है.
चेकिंग अभियान में जो यात्री बगैर पास के ही दूसरे राज्य से झारखंड आना चाहते हैं उन्हें किसी कीमत पर पुलिस झारखंड में नहीं आने दे रही है. जिन व्यक्तियों के पास, पास उपलब्ध है उनके हाथ में होम क्वॉरेंटाइन की मुहर भी लगाई जाती है, ताकि झारखंड में प्रवेश के बाद वे 14 दिन होम क्वॉरेंटाइन में रहें. छोटी गाड़ियों, बाइक और स्कूटी से आने वालों की भी पूछताछ कर रजिस्टर में इंट्री की जाती है. किसी भी तरह का संदेह होने पर पुलिस उन्हें बॉर्डर से वापस भेज रही है.