झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

झारखंड के 64.03 फीसदी अभिभावकों का कहना है कि, कोविड-19 की वैक्सीन आने के बाद राज्य में स्कूल खुले.

कुणाल सारंगी

रांची : राज्य शिक्षा परियोजना की ओर से कोविड-19 के मद्देनजर स्कूल खोलने को लेकर फीडबैक मांगा गया था. इस फीडबैक में राज्य में चल रहे सरकारी, निजी और सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ रहे पेरेंट्स से फीडबैक मांगे गये थे.

राज्य के 24 जिलों से कुल 72289 अभिभावकों ने फीडबैक दिया. इसमें से 46289 अभिभावकों का कहना है कि स्कूल तभी खुले जब कोविड-19 की वैक्सीन आ जाये. यानी 64.03 फीसदी अभिभावकों का जोर वैक्सीन आने के बाद स्कूल खोलने का है.

राज्य शिक्षा परियोजना की ओर से दिये गये आंकड़े के मुताबिक वैक्सीन आने के बाद स्कूल खोले जाने के पक्ष में प्राइवेट स्कूलों के अभिभावक सबसे ज्यादा हैं. निजी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के 27372 अभिभावकों ने अपने फीडबैक देते हुए कहा है कि स्कूल तभी खोले जायें, जब कोविड-19 की वैक्सीन आ जाये.