झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

झारखंड-बंगाल सीमा का चिरकुंडा-बराकर ब्रिज सील, नहीं कर सकता कोई प्रवेश

कुणाल सारंगी

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने झारखंड बंगाल सीमा चिरकुंडा-बराकर ब्रिज को पूरी तरह से सील कर दिया है. सीमा सील होने के बाद बंगाल से कोई प्रवेश नहीं कर सकता और न ही कोई बंगाल जा सकता है.
धनबादः कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए प्रशासन तमाम तरह के प्रयास कर रहा है. इसी क्रम में बुधवार को झारखंड बंगाल सीमा चिरकुंडा-बराकर ब्रिज को पूरी तरह से सील कर दिया गया है. धनबाद उपायुक्त उमाशंकर सिंह के निर्देश पर निरसा अंचल अधिकारी एम एन मंसूरी, इग्यारकुंड प्रखंड विकास पदाधिकारी विजेंद्र कुमार ने चिरकुंडा चेकपोस्ट को भी पूरी तरह से सील कर दिया.
झारखंड बंगाल सीमा सील होने के बाद बंगाल से न कोई आ सकेगा और न ही कोई बंगाल जा सकेगा. वहीं, जो लोग बंगाल से ई-पास लेकर झारखंड में प्रवेश करेंगे, उनको अब 14 दिनों तक मैथन एरिया नंबर 6 मध्य विद्यालय में क्वॉरेंटाइन किया जाएगा. झारखंड से पश्चिम बंगाल जाने के लिए मैथन के डीबुडीह चेकपोस्ट होकर ही जाना होगा.
सीमा सील होने से लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. चेकपोस्ट पर तैनात दंडाधिकारी और पुलिसकर्मी किसी को भी झारखंड में प्रवेश करने नहीं दे रहे हैं. कोई भी जबरदस्ती आने की कोशिश करेगा तो उनके साथ शक्ति बरती जा रही है. इस संबंध में इग्यारकुंड प्रखंड विकास पदाधिकारी विजेंद्र कुमार ने बताया कि चिरकुंडा सीमा पूरी तरह से सील है. चिरकुंडा ब्रिज से न कोई बंगाल से झारखंड आ सकता है और न ही बंगाल जा सकेगा. कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यह एतिहातन कदम उठाया गया है.