झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जंगली हाथियों का आतंक, दहशत में ग्रामीण

कुणाल सारंगी

सिमडेगा के बोलबा प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों में जंगली हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन जंगली हाथी उत्पात मचा रहे हैं. जिससे जान माल की क्षति पहुंचाने के मामले बढ़ते जा रहे हैं.
सिमडेगा: जिले के बोलबा प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों में जंगली हाथियों का आतंक कम होने का नाम नहीं ले रहा है. आए दिन ग्रामीण इसके शिकार हो रहे हैं. ये हाथी बोलबा प्रखंड के विभिन्न क्षेत्रों में ही गांव में घूम कर लोगों के घरों को तोड़ रहे हैं और अनाज आदि को चट कर जा रहे हैं. इसी क्रम में बोलबा के सुगाडोंगर गांव निवासी सेबेस्तियन डुंगडुंग और फूलजेंस टेटे के घर को इन हाथियों ने ध्वस्त कर दिया.
जानकारी देते हुए ग्रामीणों ने बताया कि झुंड से भटक कर एक विशालकाय हाथी गांव के आसपास आये दिन गांव में घुस आता है और घरों को काफी नुकसान पहुंचा रहा है. विशालकाय हाथी के सामने बम पटाखे फोड़ने का भी कोई असर नहीं हो रहा है. यहां तक की बम फोड़ने वाले व्यक्ति को दौड़ाकर नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है. हाथियों के किए जा रहे हमले से इस क्षेत्र के ग्रामीण काफी भयभीत हैं.
वहीं, पीड़ित परिवार ने जिला प्रशासन से क्षतिपूर्ति देने की मांग की है. इसके साथ ही वन विभाग से जल्दी हाथी भगाओ दल बुलाकर हाथी को गांव से दूर भेजने की अपील की जा रही है.