झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

जाने-माने शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का अमेरिका में निधन, PM मोदी और CM हेमन्त सोरेन ने जताया शोक

कुणाल सारंगी

महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का अमेरिका में दिल का दौरा पड़ने से सोमवार (17 अगस्त) की सुबह निधन हो गया। कोरोना वायरस महामारी के कारण लॉकडाउन के बाद से पंडित जसराज न्यूजर्सी में ही थे। उन्होंने सोमवार सुबह आखिरी सांस ली। उनकी बेटी दुर्गा जसराज ने यह जानकारी दी।

दुर्गा ने भाषा से मुंबई से फोन पर कहा, ”बापूजी नहीं रहे । इसके अलावा वह कुछ नहीं बोल सकी।” उनके परिवार में दुर्गा के अलावा पत्नी मधुरा के अलावा संगीतकार पुत्र शारंग देव हैं । मधुरा सुप्रसिद्ध फिल्मकार वी शांताराम की बेटी हैं।

पंडित जसराज के परिवार ने एक बयान में कहा, ”बहुत दुख के साथ हमें सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तंड पंडित जसराज जी का अमेरिका के न्यूजर्सी में अपने आवास पर आज सुबह 5 बजकर 15 मिनट पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।”

अपने आठ दशक से अधिक के संगीतमय सफर में पंडित जसराज को पद्म विभूषण (2000) , पद्म भूषण (1990) और पद्मश्री (1975) जैसे सम्मान मिले । पिछले साल सितंबर में सौरमंडल में एक ग्रह का नाम उनके नाम पर रखा गया था और यह सम्मान पाने वाले वह पहले भारतीय कलाकार बने थे । इंटरनेशनल एस्ट्रोनामिकल यूनियन :आईएयू: ने ‘माइनर प्लेनेट’ 2006 वीपी 32 :नंबर 300128: का नामकरण पंडित जसराज के नाम पर किया था जिसकी खोज 11 नवंबर 2006 को की गई थी।

इस साल जनवरी में अपना 90वां जन्मदिन मनाने वाले पंडित जसराज ने नौ अप्रैल को हनुमान जयंती पर फेसबुक लाइव के जरिए वाराणसी के संकटमोचन हनुमान मंदिर के लिए दी थी। इसके अलावा उन्होंने अपनी बेटी और प्रोड्यूसर दुर्गा की संगीतमय वेब सीरिज ‘उत्साह में भी भाग लिया था जो लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर आयोजित की जा रही है।

पंडित जसराज के निधन पर राष्ट्रपति कोविंद ने जताया शोक
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शास्त्रीय गायक पंडित जसराज के निधन पर सोमवार को गहरा शोक व्यक्त किया। कोविंद ने ट्वीट करके कहा, “संगीत विभूति एवं अद्वितीय शास्त्रीय गायक पंडित जसराज के निधन से दुख हुआ। पद्म विभूषण से सम्मानित पंडितजी ने आठ दशकों की अपनी संगीत यात्रा में लोगों को भावपूर्ण प्रस्तुतियों से आनंद विभोर किया।” उन्होंने कहा, “उनके परिवार, मित्रगण एवं संगीत-पारखी लोगों के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं!”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंडित जसराज के निधन पर जताया शोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महान शास्त्रीय गायक पंडित जसराज ने निधन पर शोक प्रकट करते हुए सोमवार को कहा कि उनके देहावसान से भारतीय शास्त्रीय विधा में एक बड़ी रिक्तता पैदा हो गई है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया, ”पंडित जसराज जी के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से भारतीय शास्त्रीय विधा में एक बड़ी रिक्तता पैदा हो गई है। न केवल उनका संगीत अप्रतिम था बल्कि उन्होंने कई अन्य शास्त्रीय गायकों के लिए अनोखे मार्गदर्शक के रूप में एक छाप छोड़ी। उनके परिवार और समस्त विश्व में उनके प्रशंसकों के प्रति संवेदना। ओम शांति।”

ने पंडित जसराज के निधन पर जताया शोक

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा, ”हम प्रार्थना करते हैं कि भगवान कृष्ण स्वर्ग के द्वार पर उनका स्वागत करें जहां वह अपना पसंदीदा भजन ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय’ उन्हें समर्पित करें। हम उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हैं।” उन्होंने आगे कहा, “आपकी प्रार्थनाओं के लिए धन्यवाद। बापूजी जय हो।”

 

मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन ने पद्म विभूषण पंडित जसराज जी के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने कहा शास्त्रीय संगीत में उनके योगदान को हमेशा याद किया जाएगा। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति एवं परिजनों को दुःख की इस घड़ी को सहन करने की शक्ति दें।