झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

इलाज के लिए जुगसलाई स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे पूर्व सैनिक को डॉ एच. हेंब्रम ने अस्पताल आने से मना किया

कुणाल सारंगी
  • करमू हेंब्रम के नवजात शिशु की मौत का मामला उठाने से नाराज हैं डॉक्टर हेंब्रम

जमशेदपुर : घुटने में दर्द की शिकायत लेकर जुगसलाई स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे पूर्व सैनिक को डॉक्टरेट हेंब्रम ने यह कहते हुए अस्पताल आने से मना किया कि उन्हें अस्पताल आने की कोई जरूरत नहीं है. वह अस्पताल नहीं आए हैं, इसकी एक लिखित शिकायत सत्येंद्र सिंह ने आज जिला उपायुक्त से की है और इस मामले में कार्रवाई की मांग की पूर्व सैनिक का कहना है कि पिछले वर्ष पटमदा क्षेत्र के रहने वाले कर्म हेंब्रम की पत्नी प्रसव पीड़ा में थी नवजात बच्चे को उसने जुगसलाई स्वास्थ्य केंद्र में जन्म दिया था. लेकिन लापरवाही की वजह से उसके बच्चे की मौत हो गई आरोप के दायरे में डॉक्टर एच हेंब्रम थे जिनके खिलाफ जांच चल भी रही है इस मुद्दे को पूर्व सैनिक का कहना है कि उन्होंने ही उठाया था.

जिससे डॉक्टर हेमराम उनसे नाराज हैं और उन्हें स्वास्थ्य केंद्र में आने से मना कर दिया पूर्व सैनिक का कहना है कि वह सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ मास पहनकर हॉस्पिटल में गए थे और कोरोनावायरस संक्रमण से बचने के लिए जारी किए गए दिशा निर्देशों का अनुपालन किए थे. ऐसा लगता है कि डॉ हेम राम ने पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर उन्हें हॉस्पिटल आने से मना किया है बाद में उन्होंने एक स्टाफ से कह कर दूसरे डॉक्टर से अपनी चिकित्सा कराई और कैल्शियम की गोली लिखवाया. इसकी शिकायत लेकर व सिविल सर्जन के पास गए थे लेकिन सिविल सर्जन से उनकी भेंट नहीं हुई मंगलवार को सिविल सर्जन से मिलकर वह इसकी शिकायत करेंगे. अगर जबाब नही मिला तो बुधवार को DC के आवास के पास धरना दिया जाएगा। सेवानिवृत्त फौजी का कहना है कि अगर कोई सामाजिक संगठन इस कार्य में उनकी मदद करता है तो वे उसके शुक्रगुजार होंगे.