झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

होमगार्ड प्रभारी पर ड्यूटी के लिए पैसे मांगने का आरोप

पूर्वी सिंहभूम जिले में होमगार्ड की महिला जवान से ड्यूटी और छुट्टी देने के नाम पर पैसे की मांग करने का एक मामला सामने आया है. महिला होमगार्ड ने इस मामले में जिला होमगार्ड कमांडेंट से होमगार्ड प्रभारी और उनकी टीम की शिकायत की है. प्राथमिक जांच में मामला सही पाए जाने पर कमांडेंट ने चार आरोपी जवानों को एमजीएम अस्पताल से हटा कर उनसे स्पष्टीकरण मांगा है.

जमशेदपुरः पूर्वी सिंहभूम जिले में होमगार्ड की महिला जवान से ड्यूटी और छुट्टी देने के नाम पर पैसे की मांग करने का एक मामला सामने आया है. महिला होमगार्ड ने इस मामले में जिला होमगार्ड कमांडेंट से होमगार्ड प्रभारी और उनकी टीम की शिकायत की है. इस पर जिला होमगार्ड कमांडेंट ने जांच के लिए टीम गठित कर दी है . वहीं प्राथमिक जांच में मामला सही पाए जाने पर कमांडेंट ने चार आरोपी जवानों से स्पष्टीकरण मांगा है.
एमजीएम अस्पताल में ड्यूटी करने वाली महिला होम गार्ड सुनीता कुमारी ने आरोप लगाया है कि होमगार्ड प्रभारी और उनकी टीम की ओर से डयूटी देने के एवज में 7 हजार रुपये की मांग की गई है. सुनीता कुमारी ने यह भी आरोप लगाया है कि कुछ दिन पूर्व उसकी तबीयत खराब हो गई थी. इस पर भी उसे छुट्टी नहीं दी गई और छुट्टी लेने पर प्रतिदिन सौ रुपये की मांग की गई. उसका आरोप है 15 सौ रुपये उसके देने पर उसे छुट्टी दी गई. इसके बाद फिर ड्यूटी देने के लिए 7 हजार रुपये की मांग की जा रही है. सुनीता का आरोप है कि हाजिरी लगाने के नाम पर भी पैसे मांगे जाते हैं, खास तौर से महिलाओं का उत्पीड़न किया जाता है. इस मामले में उसने कुछ और जवानों के साथ मिलकर जिला होमगार्ड कमांडेंट से शिकायत की है
इससे पहले भी जिले का होमगार्ड विभाग विवादों में आ चुका है. कुछ दिन पहले एमजीएम में ड्यूटी करने वाले होमगार्ड के जवानों से कोरोना जांच के लिए पैसे लिए जाने का मामला सामने आया था. इधर महिला होमगार्ड जवान से छुट्टी के एवज में पैसे लेने और ड्यूटी के लिए पैसे मांगे जाने के मामले में जिला होमगार्ड कमांडेंट ने मामले की जांच के लिए टीम बना दी है. टीम की ओर से पैसे मांगने के मामले का मामला प्राथमिक जांच में सही पाया है. इस पर कमांडेंट ने चार होम गार्ड जवानों को एमजीएम अस्पताल से हटा दिया है. साथ ही उनसे स्पष्टीकरण मांगा है
जिला होमगार्ड कमांडेंट अशोक कुमार ने बताया कम्प्यूटर सिस्टम से डयूटी रोटेशन पर लगती है. हालांकि होमगार्ड के जवानों का आपस में बातचीत कर ड्यूटी के लिए पैसे लेने का मामला सामने आया है. हमारे कार्यालय में किसी को इसकी जानकारी नहीं थी. उन्होंने बताया कि ड्यूटी के लिए पैसे मांगने के मामले में जांच कराई जा रही है. इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.