झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

होम गार्ड की संदिग्ध परिस्थिति में मौत, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

सीसीएल गिरिडीह कोलियरी के ओपनकास्ट माइंस में प्रतिनियुक्त कार्यरत होमगार्ड पंचा नंद महतो की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई. परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है. मामले की तफ्तीश में जुटी पुलिस गिरिडीह: सीसीएल गिरिडीह कोलियरी के ओपनकास्ट माइंस में प्रतिनियुक्त पर कार्यरत होम गार्ड पंचानंद महतो (50 वर्ष) की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई. इस घटना को परिजनों ने हत्या बताया है. परिजनों का कहना है कि पंचानंद ओपनकास्ट में बतौर सुरक्षा गार्ड ड्यूटी करते थे और नाइट शिफ्ट में काम करते थे.

बुधवार की शाम चार बजे पंचानंद अपने घर मघाईयाटोला (हरलिवाटांड) से निकले और ओपनकास्ट पहुंचे. इस बीच शाम लगभग सात बजे पंचानंद को मृत अवस्था में उसके घर पर दो होम गार्ड ने पहुंचाया. मृत अवस्था में पंचानंद को देखकर परिजन के साथ ग्रामीण आक्रोशित हो गए. इसके बाद शव को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे, इसके बाद यहां से सभी ओपनकास्ट पहुंच गए. इस दौरान मृतक के रिश्तेदार विश्वनाथ वर्मा ने कहा कि पंचानंद की हत्या की गई है और शव को उसके घर में फेंक दिया गया.
इस मामले की सूचना पर एसडीपीओ कुमार गौरव और मुफस्सिल थाना प्रभारी रत्नेश मोहन ठाकुर ओपनकास्ट पहुंचे. वहीं, पचंबा थाना प्रभारी शर्मानंद सिंह सदर अस्पताल पहुंचे. इधर, जिन दो गार्डों ने मृतक को उसके घर पहुंचाया था, उसे मुफस्सिल पुलिस ने पूछताछ के लिए अपने कब्जे में लिया है. इस दौरान रेवत नामक गार्ड का कहना था कि शाम को वे लोग ओपनकास्ट में पेड़ के नीचे बैठे हुए थे, तभी कोयला चोरों ने हल्ला किया कि एक गार्ड माइंस के पास घायल अवस्था में पड़ा हुआ है. वे लोग पहुंचे और घायल को उसके घर पहुंचाया. हालांकि परिजन इस बात को गलत कह रहे हैं. परिजनों का साफ आरोप है कि पंचानंद की हत्या की गई है.