झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

गम्हरिया राजद के कैंप कार्यालय में वर्चुअल धरना किया गया जिसमें 111 के संचालक डॉ ओ पी आनंद के ऊपर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजना सरासर गलत है

सरायकेला खरसावां गम्हरिया राजद के कैंप कार्यालय में वर्चुअल धरना किया गया जिसमें 111 के संचालक डॉ ओ पी आनंद के ऊपर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजना सरासर गलत है,राजद इसकी कड़ी निंदा और भतर्सना करती है और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और मुख्य मंत्री हेमन्त सोरेन से मांग की है कि बन्ना गुप्ता को मंत्रीमंडल से अविलंब हटाये जाने  की मांग की  है और इसमें संलिप्त प्रशासनिक अधिकारी आदित्यपुर थाना प्रभारी, आरक्षी अधीक्षक, आरक्षी उपाधीक्षक, और इसमें संलिप्त अन्य सभी अधिकारी को अवकाश पर भेज कर इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की गई है और जेल में बंद डाक्टर ओ पी आनन्द को आवश्यक इलाज हेतु जांच किया जाय उनकी स्वास्थ्य की पूरी जिम्मेदारी स्वास्थ्य मंत्री पर होगा बन्ना गुप्ता को मंत्रीमंडल से बरख़ास्त कर इसमें संलिप्त सभी के ऊपर सीबीआई से जांच कराकर मामले में शामिल सभी साजिश कर्ताओं का पर्दाफाश किया जाय इस वर्चुअल धरना में राजद प्रदेश महामंत्री अर्जुन प्रसाद यादव,मुकेश झा,इंद्र सिंह,आनन्द मण्डल, आशुतोष राणा,मिट्ठू महतो,इंद्रजीत सिंह,आशा यादव,सुसीता बारीक,आदि उपस्थित थे