झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

गढ़वा में जानलेवा बना कोरोना, जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता के पिता की हुई मौत

Ambuj Kumar Kunal Sarangi width Anshar Khan ADJ Kamlesh Jitendra Rais Rozvi Rishi Mishra Rina Gupta

गढ़वा जिले में शुक्रवार को जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता के पिता की कोरोना से मृत्यु हो गई. बता दें कि जिले में कोरोना से यह दूसरी मौत है.
गढ़वाः जिले में कोरोना के बढ़ते रफ्तार ने अब अपनी विनाश लीला शुरू कर दी है. दरअसल, जिले के सदर अस्पताल में भर्ती जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता के पिता की कोरोना से मृत्यु हो गई. इसकी पुष्टि सिविल सर्जन डॉ एनके रजक ने की है.
कार्यपालक अभियंता के पिता कोरोना संक्रमित
गुरुवार को गढ़वा में 12 कोरोना संक्रमित पाए गए थे, जिसमें जिला जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता मिथिलेश कुमार सिंह के 84 वर्षीय पिता बासजीत सिंह भी शामिल थे. जिसकी हालत काफी गंभीर थी और उन्हें सदर अस्पताल में भर्ती किया गया था. अस्पताल में उनका इलाज जारी था, लेकिन उनकी स्थिति में सुधार नहीं हो रहा था. हालांकि परिजन उन्हें बाहर ले जाना चाहते थे, लेकिन उन्हें एम्बुलेंस नहीं मिली. कोरोना से एक और मौत
शुक्रवार की सुबह कार्यपालक अभियंता अपनी गाड़ी से ही उन्हें रांची रिम्स ले जाना चाहते थे, उनके पिता कोविड हॉस्पिटल से निकलकर गाड़ी में बैठे, लेकिन उसी वक्त उन्होंने दम तोड़ दिया. कोरोना से मौत की इस घटना से कोविड हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों में भय व्याप्त है. वहीं, शहर में भी हड़कंप मचा हुआ है. इससे पहले रंका अनुमंडलीय मुख्यालय में 58 वर्षीय आंगनबाड़ी सेविका कुंती देवी की कोरोना से मौत हो गई थी.कोरोना के 350 मामले
सिविल सर्जन डॉ एनके रजक ने इस मौत की पुष्टि करते हुए कहा उनका सैंपल 23 जुलाई को लिया गया था. उनकी रिपोर्ट भी उसी दिन प्राप्त हो गई थी. वह कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. उनका इलाज सदर अस्पताल में किया जा रहा था. उन्होंने माना कि एम्बुलेंस मिलने में थोड़ी लाहरवाही हुई है, इसकी जांच की जा रही है. बता दें कि जिले में अब तक 350 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, जिसमें से 151 मरीज पाज़िटिव हैं.

About Post Author