झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

गांजा और नकली शराब के कारोबार पर पुलिस ने कसा शिकंजा, तीन गिरफ्तार

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर में सोमवार को गांजा और नकली शराब के कारोबार करने के मामले में अपराधी मुन्ना घोष समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया. वहीं गिरफ्तार अपराधियों के पास से गांजा समेत कई सामान बरामद किए गए हैं.
जमशेदपुर: बिष्टुपुर पुलिस ने गांजा बेचते तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. उसके पास से 650 ग्राम गांजा के अलावा दो गैलन देशी महुआ शराब के साथ-साथ एक चाइनीज चाकू भी बरामद किया है. गिरफ्तार अपराधी धातकीडीह के रहने वाले मुन्ना घोष, अनिमेष घोष और सोनारी के दोमुहानी जनता बस्ती के रहने वाला सोनू राम है.
इस संबंध में सीसीआर डीएसपी अरविंद कुमार ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली कि बिष्टुपुर थाना क्षेत्र स्थित कबीरिया स्कूल कैंपस के अंदर एक अपाहिज लड़का झोले में गांजा रखकर घूम घूम कर बेच रहा है. जिसका सनहा दर्ज करते हुए बिष्टुपुर थाना प्रभारी ने सभी वरीय पुलिस पदाधिकारियों को इसकी जानकारी दी. उसके बाद सीसीआर डीएसपी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया.
टीम ने तत्काल छापेमारी करते हुए तुषार मुखी को 50 पुड़िया गांजा के साथ पकड़ा. इसके अलावा उसके पास से एक चाइनीज चाकू भी बरामद किया गया है. पूछताछ में सोनू ने बताया कि वह मुन्ना घोष के कहने पर यह काम करता है. इसके बाद बिष्टुपुर थाना क्षेत्र स्थित धातकीडीह स्थित मुन्ना घोष के घर में छापेमारी की गई. यहां से मुन्ना घोष और एक लड़के अनिमेष घोष को गिरफ्तार किया गया. उनके पास से देशी शराब के 164 पाउच और शराब छिपाकर लाने का बड़ा-बड़ा खाली ट्यूब, गांजा को छोटा-छोटा काटने के लिए कैंची, छोटे-छोटे पुरिया बनाने के लिए प्लास्टिक पैकेट के 20 बंडल, उसको बांधने के लिए रबड़ इत्यादि बरामद किए गए हैं.
पुलिस की पूछताछ में पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि गांजा धातकीडीह के मोहम्मद फरीद उर्फ इकबाल से लाते हैं और महुआ शराब रंजीत और संजीत बागबेड़ा के रहने वाले इनको पहुंचा देते हैं. मुन्ना घोष पुराना अपराधी है. उसका दबदबा हरिजन बस्ती में है. जो हमेशा क्षेत्र में इस तरह की घटनाओं के बल पर छोटे-छोटे बच्चों और लावारिस लड़कों को इसमें रखकर अपना व्यापार फैला रहा है. वहीं पुलिस इस मामले के अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रही है