झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

डीसी-एसपी के बीच विवाद ने पकड़ा तूल, पूर्व विधायक ने की डीसी को हटाने की मांग

कुणाल सारंगी

तू तू मैं मैं चल रहा विवाद अब राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में पूर्व विधायक भाजपा नेता विष्णु प्रसाद भैया ने कहा कि जिले में विकास के नाम पर लूट मची हुई है और जिला प्रशासन तू-तू मैं-मैं करने में लगे हुए हैं.

जामताड़ाः जिले में डीसी और एसपी के बीच चल रहा विवाद अब राजनीतिक तूल पकड़ते जा रहा है. दरअसल, पिछले दिनों डीसी और एसपी के बीच हुई तू-तू मैं-मैं की घटना और स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान डीसी द्वारा झंडोतोलन के दौरान तिरंगा गिर जाने का मामला गरमाता जा रहा है. अब इस मामले में पूर्व विधायक सह भाजपा नेता विष्णु प्रसाद भैया ने डीसी को हटाने की मांग की है. मामले में पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने आरोप लगाते हुए कहा कि जिले में विकास के नाम पर लूट मची हुई है. विकास का कोई काम धरातल पर नहीं उतर रहा है. साथ ही कहा कि यहां जिला प्रशासन आपस में तू-तू मैं-मैं करने में लगे हुए हैं और एक दूसरे को नीचा दिखाने में लगे हुए हैं. पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने कहा कि जिला अधिकारी अपने घमंड में चूर रहते हैं और जनता घंटों मिलने के लिए इंतजार में बैठे रहती है और जिला अधिकारी मिलते तक नहीं है.
पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान सामाहारणालय में डीसी द्वारा झंडोत्तोलन के दौरान राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा टूटकर नीचे गिर जाने की घटना की भी निंदा की है. इसे लेकर जामताड़ा डीसी के मानसिकता पर सवाल खड़ा किया है. पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने आरोप लगाते हुए कहा कि जामताड़ा के नव पदस्थापित उपायुक्त का राष्ट्रीय ध्वज से कोई मतलब नहीं है. राष्ट्रीय ध्वज कैसे फहराया जाता है, इनको ज्ञान नहीं है.
पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया ने सरकार से ऐसे डीसी को हटाकर जनता को निजात दिलाने की मांग की है. साथ ही कहा कि ऐसे डीसी को जिला देना गलत हुआ है. ऐसे डीसी को सचिवालय में रहना चाहिए न की किसी डीसी पद पर.