झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

बिजली कर्मी भी घोषित हो कोरोना वारियर्स, बिजली कामगारों की मांग

कुणाल सारंगी

कोरोना के इस संकट काल में काम कर रहे विद्युत कर्मियों ने विभाग से बीमा की मांग की है. झारखंड बिजली कामगार यूनियन के कार्यकारी महामंत्री केएन सिंह के नेतृत्व में विद्युत कर्मियों ने जमशेदपुर अंचल अंतर्गत जियाडा परिसर स्थित विद्युत
अधीक्षण अभियंता को एक मांग पत्र सौंपा है. इसके साथ ही कोरोना संकट काल में दिन-रात निर्बाध रूप से बिजली आपूर्ति कार्य में लगे सभी कर्मचारियों को सुरक्षा की दृष्टि से बीमा कराने की मांग फिर से उठाई गई है.

सरायकेला: झारखंड बिजली कामगार यूनियन की ओर से बिजली कामगारों के सुरक्षा की मांग सरकार से की गई है. सरकार और विभाग से विद्युत कर्मियों को 25 लाख का बीमा और सुरक्षा संबंधित किट उपलब्ध कराए जाने की मांग की गई है. इधर, यूनियन के लगातार मांग के बाद भी विभाग ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया है, जिससे विद्युत कर्मियों में आक्रोश व्याप्त है झारखंड बिजली कामगार यूनियन के कार्यकारी महामंत्री केएन सिंह के नेतृत्व में विद्युत कर्मियों ने जमशेदपुर अंचल अंतर्गत जियाडा परिसर स्थित विद्युत अधीक्षण अभियंता को एक मांग पत्र सौंपा है. इसके साथ ही कोरोना संकट काल में दिन-रात निर्बाध रूप से बिजली आपूर्ति कार्य में लगे सभी कर्मचारियों को सुरक्षा के दृष्टि से बीमा कराने की मांग फिर से उठाई गई है. कार्यकारी महामंत्री केएन सिंह ने कहा है कि संक्रमण के इस दौर में विद्युतकर्मी लगातार संक्रमित स्थानों पर ब्रेकडाउन
और फ्यूज कॉल समेत लाइन मरम्मत का कार्य कर रहे हैं, लेकिन विभाग की ओर से विद्युत कर्मियों को मास्क, ग्लब्स समेत अन्य सुरक्षा के उपकरण भी मुहैया नहीं कराए जा रहे हैं. ऐसे में विद्युतकर्मी जान जोखिम में डाल कार्य करने को विवश हैं. विद्युतकर्मी भी इस दौरान कोरोना वारियर्स के रूप में काम कर रहे हैं.कोरोना से मृत विद्युतकर्मी के परिवार को मिले 10 लाख यूनियन की ओर से पिछले दिनों कोरोना से संक्रमित होने के बाद इलाज के क्रम में मृत विद्युतकर्मी के परिजनों को यूनियन ने विभाग से 10 लाख रुपए की भुगतान करने की मांग की थी, इधर इन सभी मांगों के समर्थन में आगामी 8 अगस्त को विद्युत प्रबंधन और विभाग के विरुद्ध यूनियन की ओर से जोरदार आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है.