झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

भारत की एक ऐसी शहर जहां 16 अगस्त को मनाई जाती है स्वतंत्रता दिवस, जाने इसकी वजह

कुणाल सारंगी

शिमला (हिमाचल). पूरा देश आज स्वतंत्रता दिवस मना रहा है, इस दिन हर तरफ आजादी का जश्न देखने को मिलता है। लेकिन भारत में एक शहर ऐसा भी है, जहां आज की जगह कल यानी 16 अगस्त को स्वाधीनता दिवस (Independece Day) मनाया जाएगा। आइए जानते हैं उस इस शहर के बारे में आखिर क्यों यहां एक दिन बाद मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस।

दरअसल, ये शहर हिमाचल प्रदेश की राजधानी  शिमला से 30 किलोमीटर दूर है, जिसका नाम ठियोग है, जहां 16 अगस्त को आजादी का जश्न मनाया जाता है। बताया जाता है कि शिमला की ठियोग रियासत सबसे पहले राजाओं की सत्ता से आजाद हुई। 15 अगस्त 1947 को ठियोग रियासत के राजा कर्मचंद को लोगों के विरोध के चलते अपनी राजगद्दी छोड़नी पड़ी थी।  जिसके बाद यहां लोकतंत्र की बहाली हुई और सूरत के राम प्रकाश ने ठियोग अपने आठ मंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की सपथ ली। उस दिन से लेकर आज तक यहां स्वतंत्रता दिवस ठियोग उत्सव और जिला स्तरीय उत्सव 16 अगस्त को ही मनाया जाता है।

हर साल यहां पर 16 अगस्त को सरकार समारोह आयोजित करता है और जिले के सभी अधिकारियों के साथ प्रदेश सरकार के मंत्री भी उसमें शिरकत करने के लिए पहुंचते हैं। कल रविवार को को भी यहां कार्यक्रम मनाया जाएगा जिसमें सरकार की तरफ से कोई ना कोई मंत्री पहुंचेगा।
पिछले साल यहां ठियोग उत्सव और  स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए मुख्यातिथि के रूप में प्रदेश सरकार के शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज शामिल हुआ थे। जहां पर पारंपरिक जिला स्तरीय रिहाली मेला लगता है, जिसको देखने के लिए दूर से लोग देखने के लिए आते हैं। कोरोना के कहर के चलते यह उत्सव इस बार नहीं मनाया जाएगा। सिर्फ स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर तिरंगा फहराया जाएगा। ठियोग हिमाचल के जंगल में बसा शहर है, जहां हर साल लाखों टूरिस्ट घूमने के लिए आते हैं।