झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

भाजपा नेता प्रकाश यादव को न्याय दिलाने को भाजपाइयों ने रखा सांकेतिक उपवास, घरों में रहकर दिया धरना।

कुणाल सारंगी

जमशेदपुर: जमशेदपुर के बिरसानगर निवासी भाजपा नेता प्रकाश यादव के निर्मम हत्या किए जाने के बाद से भारतीय जनता पार्टी निरंतर दोषियों के ख़िलाफ़ आवाज बुलंद कर रही है। हत्या के बाद से भाजपा के बड़े नेताओं व कार्यकर्ताओं के दबाव से जिला प्रशासन ने त्वरित कार्यवाही करते हुए हत्या में शामिल दोषियों को पकड़ जेल भेज दिया। परंतु अब भाजपा नेता सह युवा अधिवक्ता प्रकाश यादव के हत्यारे को कड़ी सजा व उचित न्याय की माँग उठने लगी है। शनिवार को भाजपा जमशेदपुर महानगर अंतर्गत पूर्वी विधानसभा क्षेत्र के सातों मंडल अध्यक्ष व भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपने अपने घरों में 2 घंटे का सांकेतिक उपवास सह धरना देकर शहर में गिरती कानून व्यवस्था व प्रकाश यादव हत्याकांड के दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की माँग की। इस दौरान जमशेदपुर महानगर जिलाध्यक्ष समेत पूर्वी विधानसभा के सभी बड़े भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने बाँह में काला बिल्ला लगा व हाथों में पोस्टर लेकर घटना में शामिल दोषियों व संरक्षणकर्ता के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया। भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने कहा कि संगठन के सिपाही प्रकाश यादव के उचित न्याय, एवं हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने एवं अपराधियों के शरणदाता के ख़िलाफ़ भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोरोना महामारी में अपने अपने घरों में सांकेतिक उपवास रखकर विरोध दर्ज कराया है। भू-माफ़ियायों के खिलाफ आवाज उठाने पर प्रकाश यादव के परिवार के साथ बिरसानगर क्षेत्र के लोग भयभीत हैं और डर के साये में रात गुजार रहे हैं। प्रशासन को शहर में ध्वस्त होती कानून व्यवस्था पर अतिशीघ्र संज्ञान लेकर कार्यवाई करने की आवश्यकता है। जिससे कि प्रकाश यादव जैसे युवा की हत्या जैसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो।

सोशल मीडिया पर ‘प्रकाश यादव को मिले न्याय’ करता रहा ट्रेंड: भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा घरों में सांकेतिक धरना दिए जाने पर फेसबुक, ट्विटर व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर ‘प्रकाश यादव को मिले न्याय’, ‘बिरसानगर हत्याकांड’ दिनभर ट्रेंड करता रहा। कार्यकर्ताओं ने ट्रेंड में भाग लेते हुए सोशल मीडिया पर उपवास व धरना की तस्वीरें साझा की।

सांकेतिक उपवास सह धरना कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष गुंजन यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष अभय सिंह, दिनेश कुमार, रामबाबू तिवारी, मिथिलेश सिंह यादव, कल्याणी शरण, पवन अग्रवाल, खेमलाल चौधरी, संजीव सिंह, कमलेश सिंह, अनिल मोदी, अमरजीत सिंह राजा, धर्मेंद्र प्रसाद, गुरदेव सिंह राजा, कुलवंत सिंह बंटी, बबुआ सिंह, सुमित श्रीवास्तव, प्रोबिर चटर्जी राणा, पप्पू मिश्रा, दीपक झा, रमेश नाग, ध्रुव मिश्रा, श्रीराम प्रसाद, संतोष ठाकुर, प्रेम झा, राकेश राव, पप्पू उपाध्याय, चंद्रशेखर राव, कुमार अभिषेक, मृत्यंजय यादव, अमिश अग्रवाल, विकास शर्मा, विराट कुमार, नरेंद्र सिंह समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।