झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

बेगानाडीह गांव से लापता किशोरी का शव 30 घंटे बाद खरकाई नदी से मिला, घर से टीवी देखने गई थी पड़ोसी के घर

कुणाल सारंगी

सरायकेला जिले के बेगानाडीह गांव अंतर्गत ठाठुपाड़ा टोला में पड़ोसी के
घर टीवी देखने गई किशोरी लापता हो गई थी. शुक्रवार को 30 घंटे बाद लापता किशोरी का शव पुलिस ने खरकाई नदी से बरामद किया है. पुलिस को नाबालिग का शव माजना घाट पुल से करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर मिला. इससे पहले किशोरी की चप्पल पुल पर मिलने से उसकी नदी में तलाश की जा रही थी.
सरायकेला: जिले के बेगानाडीह गांव अंतर्गत ठाठुपाड़ा टोला में पड़ोसी के घर टीवी देखने गई किशोरी लापता हो गई थी. शुक्रवार को 30 घंटे बाद लापता किशोरी का शव पुलिस ने खरकाई नदी से बरामद किया है. पुलिस को नाबालिग का शव माजना घाट पुल से करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर मिला. इससे पहले किशोरी को चप्पल पुल पर मिलने से उसकी नदी में तलाश की जा रही थी.
प्राप्त जानकारी के अनुसार किशोरी सरायकेला के बेगानाडीह गांव अंतर्गत ठाठुपाड़ा टोला की निवासी थी और बुधवार देर शाम से लापता थी. गुरुवार को नदी के पुल से किशोरी का चप्पल मिला. इसके बाद पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी और उसके नदी में छलांग लगाने की आशंका जताई जा रही थी. हालांकि उसे नदी में कूदते किसी ने नहीं देखा था. शुक्रवार सुबह नाबालिग का शव नदी से बरामद होने के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. साथ ही मामले की छानबीन में जुट गई है. इससे पहले गुरुवार को पुलिस ने गोताखोरों की मदद से घंटों नदी में युवती की तलाश कराई थी.
पड़ोसी के घर टीवी देखने गई फिर लापता हो गई
घटना के संबंध में परिजनों ने पुलिस को बताया है कि नाबालिग रोजाना शाम पड़ोसी के यहां टीवी देखने जाती थी. इस बीच बुधवार रात तकरीबन 8:30 बजे तक जब नाबालिग अपने घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उसकी तलाश की. इस बीच 2 दिनों तक उसका कुछ पता नहीं चला. वहीं, पुलिया के ऊपर से चप्पल बरामद होने के बाद अनहोनी की आशंका जताई जा रही थी. मामले में जानकारी देते हुए सरायकेला थाना प्रभारी नवीन प्रकाश पाण्डेय ने बताया कि किशोरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है और पुलिस ग्रामीणों से भी मामले की पड़ताल कर रही है.