झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

बीस साल बाद भी नहीं पहुंची पक्की सड़क, ग्रामीणों ने लगाई प्रशासन से गुहार

गोड्डा के पांडुबतहां आदिवासी गांव में पक्की सड़क नहीं है. जिसके कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ग्रामीणों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है

गोड्डा:जिला मुख्यालय से 10 किमी दूर स्थित पांडुबतहां आदिवासी गांव में आज तक पक्की सड़क नहीं है. जिसके कारण लोगों को आवागमन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है. बालू का अवैध उठाव करने वाले धंधेबाजों ने कच्चे रास्ते को बद से बदतर बना दिया है, जिसके कारण ग्रामीणों का जीना मुहाल हो गया है
ग्रामीण का कहना है कि कच्ची सड़क पर अवैध बालू उठाव के कारण सड़क की हालत बदतर हो गई है. बालू के अवैध कारोबारियों का धंधा बेरोक-टोक चलता है. इसमें कई सफेदपोश लोग भी शामिल होते हैं. ग्रामीण कहते हैं कि यह हाल कोई आज से नहीं है. पिछले 15-20 वर्षों से है, सड़क न होने के कारण उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, लेकिन उनकी कोई सुधि लेने वाला नहीं है. स्थानीय जनप्रतिनिधि भी सिर्फ आश्वासन ही देते हैं. इसके कारण कई बार दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं, लेकिन फिर भी कोई उनकी नहीं सुनता. जिसके कारण उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.