झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

अनुबंधित स्वास्थ्यकर्मियों की आज सांकेतिक हड़ताल, 5 अगस्त से कार्य बहिष्कार की चेतावनी

कुणाल सारंगी

झारखंड में अनुबंध पर कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी अपनी मांगों को लेकर 4 अगस्त को सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे. अगर सरकार उनकी मांगों को पूरी नहीं करती है तो सभी 5 अगस्त से कार्य का बहिष्कार करेंगे. अनुबंध पर कार्यरत एएनएम, जीएनएम और लैब टेक्नीशियन का कहना है कि कोरोना के इस संकट में वे अपनी जान पर खेलकर मरीजों की सेवा कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनके साथ उदासीन रवैया अपना रही है.

रांची: झारखंड में अनुबंध पर कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी और पारा मेडिकलकर्मी के साथ-साथ लैब टेकिनीशियन 4 अगस्त को सांकेतिक हड़ताल पर रहेंगे. स्वास्थ्यकर्मियों ने जल्द से जल्द परमानेंट करने पर पहल नहीं करने पर 5 अगस्त से पूरी तरह कार्य बहिष्कार करने की चेतावनी दी है.
अनुबंध पर कार्यरत एएनएम, जीएनएम और लैब टेक्नीशियन का कहना है कि कोरोना के इस संकट में वे अपनी जान पर खेलकर मरीजों की सेवा कर रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी उपेक्षा कर रही है. हड़ताल पर जा रहे अनुबंध पर बहाल स्वास्थ्यकर्मियों ने सरकार से अपील की है कि अनुबंध पर कार्यरत सभी कर्मचारियों की परमानेंट करे, ताकि कोरोना के संकट में वह निर्भीक होकर मरीजों की सेवा कर सकें. स्वास्थ्यकर्मियों ने सरकार से वेतनमान बढ़ाने की भी मांग की है.
स्वास्थयकर्मियों का कहना है कि मंगलवार को सांकेतिक हड़ताल के माध्यम से अनुबंध पर बहाल स्वास्थ्यकर्मी सरकार को चेतावनी देने जा रहे हैं कि अगर सरकार उनकी मांगों पर विचार नहीं करती है तो 5 अगस्त से राज्य के सभी स्वास्थ्यकर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे. अगर अनुबंध पर कार्यरत हजारों स्वास्थ्य कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो इसके जिम्मेदारी सरकार की होगी.