झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

अंग्रेजी शराब दुकान पर चोरों का धावा, शटर तोड़कर चुराए लाखों के महंगे शराब

सरायकेला के कलियाडूंगरी चौक के पास एक अंग्रेजी शराब दुकान से अज्ञात चोरों ने शटर तोड़ दुकान में रखे सभी ब्रांडेड और महंगे मूल्य के शराब की बोतल को चुरा लिया. इसे लेकर थाने में मामला दर्ज कराया गया है, पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है.

सरायकेला: जिले के सरायकेला थाना क्षेत्र अंतर्गत कलियाडूंगरी चौक के पास एक अंग्रेजी शराब दुकान पर बीते रात चोरों ने धावा बोलते हुए दुकान का शटर तोड़कर लाखों मूल्य के महंगे और ब्रांडेड अंग्रेजी शराब की चोरी की घटना को अंजाम दिया है.
जानकारी के अनुसार कलियाडूंगरी चौक स्थित अंग्रेजी शराब के अनुज्ञप्ति धारी राजू याग्निक के अंग्रेजी शराब दुकान का अज्ञात चोरों ने शटर तोड़ दुकान में रखे सभी ब्रांडेड और महंगे मूल्य के शराब की बोतल को चुरा लिया. चोरों ने यहां सस्ती शराब छोड़ सिर्फ महंगे और ब्रांडेड शराब की बोतलों पर ही हाथ साफ किया. इधर शनिवार सुबह जब दुकान के कर्मचारी दुकान खोलने पहुंचे तो पाया कि दुकान का शटर टूटा हुआ है और कई शराब की बोतले गायब हैं. इस घटना के फौरन बाद दुकान के कर्मचारियों ने सरायकेला पुलिस को सूचित किया, बताया जाता है कि चोरी किए गए सभी ब्रांडेड शराब बोतलों की कुल कीमत तकरीबन साढ़े 6 लाख है. दुकान में लगे सीसीटीवी और हार्ड डिस्क भी उठा ले गए चोर चोरों ने शराब दुकान में चोरी की घटना को अंजाम देने के बाद दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे के हार्ड डिस्क समेत डीवीआर भी अपने साथ ले गए. ताकि चोरी की घटना से संबंधित कोई भी सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगे. इधर मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा मामले की छानबीन की जा रही है, सरायकेला थाने में मामला भी दर्ज कराया गया है.
तीन महीने में हुई है 40 चोरी की घटना
सरायकेला थाना क्षेत्र में विगत तीन महीनों में 40 से भी अधिक चोरी के मामले सामने आए हैं, जिनमें मुख्य रूप से दुकान समेत घरों में की गई चोरी के मामले शामिल हैं. कलियाडूंगरी के पास आए दिन हो रही चोरी की घटनाओं से स्थानीय लोगों में पुलिस के प्रति भारी नाराजगी देखी जा रही है, स्थानीय लोगों की माने तो कभी भी पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी रात में क्षेत्र में नहीं घूमा करती, नतीजतन चोरों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं. वहीं सरायकेला थाना क्षेत्र में लगातार दुकान और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में बढ़ रही चोरी की घटनाओं से व्यवसाई वर्गों में भी पुलिस के कार्यशैली के प्रति नाराजगी देखी जा रही है.