झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

अक्सर धोखा दे जाती है पुलिस वैन

कुणाल सारंगी

लोहरदगा में गश्त पर निकली पुलिस की गाड़ी बीच सड़क में धोखा दे गई. पुलिसकर्मियों को गाड़ी को धक्का लगाकर स्टार्ट करना पड़ा. यह कोई नया नहीं है लोहरदगा पुलिस के लिए. कई बार पुलिसकर्मियों की गाड़ी धोखा दे जाती है.

लोहरदगा: कहते हैं कानून के हाथ लंबे होते हैं, अपराधी लाख भाग ले, पर कानून उसे दबोच ही लेता है. पर पुलिस की गाड़ी की बात जब आती है तो यही कहावत उल्टी पड़ जाती है. लोहरदगा में पुलिस की गाड़ी अक्सर धोखा दे जाती है. फिर इसी तरह का नजारा देखने को मिला है. गश्त पर निकली पुलिस की गाड़ी बीच सड़क में धोखा दे गई. पुलिसकर्मियों को गाड़ी को धक्का लगाना पड़ा.
सरकारे बदलती रही, हर सरकार ने पुलिस विभाग को अत्याधुनिक बनाने का वादा किया. हालात आज भी वही नजर आते हैं, जो पहले थे. पुलिस की गाड़ियां आज भी अपराधियों के पीछे ही भागती है. पुलिस वाहन खस्ताहाल हो चुके हैं. इसका नजारा लोहरदगा में भी देखने को मिला. गश्त पर निकली पुलिस की गाड़ी अचानक से धोखा दे गई. पुलिसकर्मियों को वाहन को धक्का लगाना पड़ा.
पुलिसकर्मियों के लिए यह शर्मनाक था, पर मजबूरी थी तो क्या किया जा सकता है. पुलिस प्रशासन तब तक अपराधियों से आगे नहीं रह सकती है, जब तक उनके पास संसाधन मजबूत न हों. ऐसे हालात में अपराधी कैसे पकड़े जाएंगे. तमाम परिस्थितियां पुलिस के लिए उपलब्ध संसाधनों पर सवाल उठाती हैं. पुलिसकर्मी इस मसले पर कुछ भी कहने से बचते रहे