झारखण्ड वाणी

सच सोच और समाधान

आठवीं से लेकर ग्यारहवीं की कक्षाएं मार्च माह में हो सकती है शुरू विद्यार्थियों को प्रमोट करने की हो रही है तैयारी

आठवीं से लेकर ग्यारहवीं की कक्षाएं मार्च माह में हो सकती है शुरू विद्यार्थियों को प्रमोट करने की हो रही है तैयारी

झारखंड स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने आठवीं, नौवीं और ग्यारहवीं की कक्षाएं शुरू करने का प्रस्ताव आपदा प्रबंधन विभाग को भेजी है. अनुमति मिलते ही कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी. वहीं आठवीं से लेकर ग्यारहवीं तक के विद्यार्थियों के अलावा राज्य के सरकारी स्कूलों के सभी बच्चों को प्रमोट करने पर भी कवायद चल रही है.

रांचीः स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने 8वीं, 9वीं और 11वीं की कक्षाएं शुरू करने का प्रस्ताव आपदा प्रबंधन विभाग को भेजा है. दरअसल विभागीय सचिव राहुल शर्मा की ओर से इसे लेकर आपदा प्रबंधन विभाग से विचार विमर्श करने के लिए अपने अधिकारियों को निर्देश दिया गया था. इसी के तहत इस प्रस्ताव को तैयार कर आपदा विभाग को भेजा गया है.
कोरोना महामारी के दौरान पठन-पाठन काफी प्रभावित हुआ हैं. वर्ष 2020 के 17 मार्च से ही तमाम शिक्षण संस्थाएं बंद है. 10वीं और 12वीं की कक्षाएं परीक्षाओं को देखते हुए संचालित की जा रही है, लेकिन इस वर्ष आठवीं से लेकर ग्यारहवीं तक के विद्यार्थियों के अलावा राज्य के सरकारी स्कूलों के सभी बच्चों को प्रमोट करने पर भी कवायद की जा रही है. जेसीईआरटी से मिली जानकारी के मुताबिक स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग एक प्रक्रिया के तहत तमाम बच्चों को अगले क्लास में प्रमोट करने पर विचार कर रही है. एक शॉर्ट टर्म टेस्ट लेते हुए उन्हें अलग-अलग वर्ग में बांटा जाएगा. फिर कमजोर बच्चों के लिए अतिरिक्त क्लासेस भी चलाई जाएगी. हालांकि इसे लेकर आपदा प्रबंधन विभाग की अनुमति जरूरी है. इसी वजह से स्कूली शिक्षा साक्षरता विभाग ने आपदा प्रबंधन विभाग से आठवीं से लेकर ग्यारहवीं तक की कक्षाएं संचालन करने को लेकर अनुमति मांगी है. अनुमति मिलते ही मार्च महीने से इन वर्गों की भी कक्षाएं शुरू की जाएगी.
स्कूली शिक्षा साक्षरता विभाग ने झारखंड एकेडमिक काउंसिल को पत्र लिखकर यह निर्देश दिया है कि आलिम फाजिल स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षाएं जैक ही अपने स्तर पर आयोजित करें. एक वर्ष पूर्व ही रांची विश्वविद्यालय को इसकी जिम्मेदारी मिली थी, लेकिन अब तक योजनाबद्ध तरीके से इस पर काम नहीं हुआ है. इसी वजह से शिक्षा विभाग की ओर से जैक को विद्यार्थियों के लिए परीक्षा आयोजित करने का निर्देश जारी किया गया है. जल्द ही जैक की ओर से आवेदन पत्र आमंत्रित किए जाएंगे. अब तक झारखंड एकेडमिक काउंसिल ही आलिम-फाजिल की परीक्षाएं आयोजित करती रही है.